कॉमर्शियल माइनिंग पर नहीं बनी बात-कर्मचारी करेंगे 3 दिन की हड़ताल

[URIS id=45547]

कॉमर्शियल माइनिंग पर नहीं बनी बात-कर्मचारी करेंगे 3 दिन की हड़ताल

NEWSTODAYJ  कॉमर्शियल माइनिंग का मुद्दा अब गरमाता जा रहा हैl मुद्दों को लेकर कोयला कर्मचारी गुरुवार से तीन दिन की हड़ताल करेंगे। बुधवार शाम तक हड़ताल टालने की कोशिशें चलती रहीं मगर कामयाबी नहीं मिली। कोयला मंत्री प्रल्हाद जोशी के साथ ट्रेड यूनियन नेताओं की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हुई वार्ता विफल हो गई। कोयला मंत्री ने यूनियन नेताओं से कहा कि कॉमर्शियल माइनिंग समय और देश की जरूरत है। धनबाद खदान - YouTubeइससे कोल इंडिया पर कोई असर नहीं पड़ेगा। वहीं ट्रेड यूनियनों की ओर से कहा गया कि 14 दिन पहले स्ट्राइक नोटिस सौंपा था। मजदूरों के मुद्दों पर सरकार का रवैया गंभीर नहीं है। हड़ताल टालनी है तो सरकार कॉमर्शियल माइनिंग के फैसले को वापस ले।  घंटेभर चली वर्चुअल मीटिंग में दोनों पक्षों की ओर से अपनी-अपनी बात रखी गई लेकिन सहमति नहीं बनी और वार्ता बिना किसी परिणाम के समाप्त हो गयी। कोयला मंत्री प्रल्हाद जोशी गोवा से मीटिंग में जुड़े थे। कोयला सचिव, कोल इंडिया चेयरमैन एवं यूनियनों की तरफ से एटक से रमेंद्र कुमार, बीएमएस से डा बसंत कुमार राय, एचएमएस से नाथूलाल पांडेय, सीटू से रामानंदन आदि मौजूद थे।

ये भी पढ़े…

35 नए कोरोना पॉजिटिव मरीजों के साथ झारखण्ड में कुल आंकड़ा 2525-धनबाद से मिले 6

धनबाद में संयुक्त मोर्चा के बैनर तले बुधवार को आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में यूनियन नेताओं ने हड़ताल को लेकर एकजुटता दिखाई। इस मौके पर यूनियन नेताओं ने कहा कि हम कोयला मजदूर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर भी जा सकते हैं। कोयला  उत्पादन और डिस्पैच को पूरी तरह ठप करेंगे।  कोयला मंत्री प्रल्हाद जोशी ने श्रमिक संगठनों से अपील की है कि वे राष्ट्र हित में दो से 4 जुलाई तक प्रस्तावित हड़ताल वापस ले लें। उन्होंने स्पष्ट किया कि कॉमर्शियल माइनिंग से कोल इंडिया का दूर-दूर तक संबंध नहीं है। इस संबंध में कोयला श्रमिकों की आशंकाएं निराधार हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here