• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

एफ-16 को लेकर अमेरिका क्यों है परेशान? पढ़ें पूरी खबर

1 min read

वॉशिंगटन।

एफ-16 को लेकर अमेरिका क्यों है परेशान? पढ़ें पूरी खबर

वॉशिंगटन। पाकिस्तान के एफ-16 फाइटर जेट उपयोग करने और भारतीय वायु सेना द्वारा ढेर किए जाने को लेकर अमेरिका खासा परेशान है। Related imageएयर स्ट्राइक के बाद भारतीय सीमा में घुसकर सैन्य अड्डों को निशाना बनाने की कोशिश में पाकिस्तान के एफ-16 फाइटर जेट गंवाने से अमेरिका भी पशोपेश में है। भारत ने पाकिस्तान की ओर से इस हिमाकत में एफ-16 फाइटर जेट का इस्तेमाल किए जाने की शिकायत अमेरिका से की है।
अब अमेरिका एफ-16 विमान के ढेर होने और नियमों को लेकर अजीब स्थिति में फंसा हुआ महसूस कर रहा है।

भारत के विदेश मंत्रालय ने शनिवार को एक बयान में कहा, ‘हमने मीडिया को अमराम मिसाइलों के इस्तेमाल के सबूत दिखाए हैं, जिन्हें एफ-16 में ही लगाया जा सकता है। हमने अमेरिका से कहा कि वह यह देखे कि क्या भारत के खिलाफ एफ-16 का इस्तेमाल उसकी ओर से सेल के वक्त नियम एवं शर्तों के मुताबिक है या नहीं।’ अमेरिका के सहायक विदेश मंत्री जॉन हिलेन ने जून 2006 में एफ-16 के इस्तेमाल के संबंध में शर्तें तय की थीं।

अमेरिका हाउस इंटरनेशनल रिलेशंस कमेटी ने भारत ने कहा कि अमेरिका को इस बात पर विचार करना चाहिए कि पाकिस्तान ने हवाई अतिक्रमण में इनका इस्तेमाल कर उसकी ओर से बिक्री के समय तय नियम एवं शर्तों का उल्लंघन किया है। Related imageभारत सरकार ने अमेरिकी अधिकारियों के माध्यम से यूएस कांग्रेस तक अहम दस्तावेजों के जरिए पाकिस्तान की ओर से एफ-16 के इस्तेमाल के नियमों के उल्लंघन की जानकारी दी है। अमेरिका का एफ-16 पर निगरानी का तंत्र काफी एडवांस माना जाता रहा है, लेकिन अब यह पुराना हो चला है। फिलहाल एफ-16 पाकिस्तानी एयर फोर्स के लिए सबसे महत्वपूर्ण एसेट्स में से एक है।

पाकिस्तान द्वारा बेजा इस्तेमाल की आशंका जताई थी, जिसके बाद यह नियम तय किए गए थे। कमेटी को हिलेन ने जो भरोसा दिया था, उसमें यह भी शामिल था कि पाकिस्तान एफ-16 के इस्तेमाल से संबंधित सिक्यॉरिटी प्लान पर भी अमल करेगा।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Leave a Reply

Your email address will not be published.