एक और बाबा पर शिष्या ने लगाया दुष्कर्म का आरोप जाने पूरी खबर



नई दिल्ली।

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06


एक और बाबा पर शिष्या ने लगाया दुष्कर्म का आरोप जाने पूरी खबर……….

पाली। बाबाओं के दिन वाकई बुरे चल रहे हैं। एक के बाद एक बाबा और धर्मगुरूओं पर गंभीर तरह के आरोप लग रहे हैं। दुष्कर्म के आरोप में आसाराम जैसा बलात्कारी संत जेल की सलाखों के पीछे सजा काट रहा है। वहीं सोमवार को एक और प्रसिद्ध संत दाती मदन राजस्थानी पर उनकी शिष्या ने दुष्कर्म का आरोप लगाया है।

राजस्थानी का पाली जिले के आलावास गांव में आश्रम संचालित है। उन्हें शनि उपासक के रूप में माना जाता है तथा दाती के शिष्य देशभर में है। दिल्ली समेत कई शहरों में उनके आश्रम भी संचालित है।

पीडि़त महिला का कहना है कि दो साल पहले दाती मदन महाराज राजस्थानी द्वारा उसका यौन उत्पीडऩ किया गया। महिला का कहना है कि बाबा की ख्याति के चलते वह डर गई थी इस वजह से उसने दो साल तक शिकायत दर्ज नही करवाई।

दिल्ली में भी है संत का आश्रम……

दिल्ली-एनसीआर सहित राजस्थान में दाती मदन महाराज का लोग बड़ी संख्या में अनुसरण करते है। दाती महाराज स्वयं भी नियमित रूप से राष्ट्रीय चैनलो पर आते रहते है। दाती महाराज की खुद की वेबसाइट है।

अपनी शिक्षा का प्रचार-प्रसार करने के लिए दाती महाराज सोशल मीडिया का भी सहारा लेते हैं। इससे पहले भी कई बाबाओं पर यौन शोषण और दुष्कर्म करने के गंभीर आरोप लगे है। कुछ मामलों में तो पीडि़ता अपना मूंह बंद कर लेती है पर कुछ मामलों में वे खुलकर सामने आ जाती है और धर्म के नाम पर श्रद्धा के नाम पर लोगों की आस्था के साथ खिलवाड़ करने वालो ऐसे बाबाओं की पोल खोलकर रख देती है।

ऐसे मामलो में रामपाल, आसाराम, रामरहीम जैसे प्रमुख नाम है। जिनके खिलाफ पीडिताओं ने मोर्चा खोला और उन्हे जेल की हवा खिलाई। ऐसे ही एक मामले में हाल ही में जोधपुर हाईकोर्ट ने आसाराम को उम्रकेद की सजा सुनाई।
बेटियों की शिक्षा के नाम पर कई योजनाएं संचालित

संत राजस्थानी कई अच्छे कार्यों के लिए क्षेत्र में जाने जाते हैं। दाती ने बेटियों की शिक्षा के लिए कई तरह की योजनाएं चलाई हैं। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत उन्होंने हजारों की संख्या में बालिकाओं को शिक्षित किया है।

अनाथ व गरीब बालिकाओं की शादी का खर्च भी दाती उठाते हैं। बाढ़ राहत में पीडि़तों की सहायता और सर्दियों में कंबल बांटने का भी काम उन्होंने बड़े पैमाने पर किया है।

रखे आप को आप के आस पास के खबरो से आप को आगे.newstodayjharkhand.com 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here