एक्सिस बैंक के माध्यम से साइबर अपराधियों ने कॉपरेटिव बैंक से उड़ा दिए 1.50 करोड़ रूपये-धनबाद

एक्सिस बैंक के माध्यम से साइबर अपराधियों ने कॉपरेटिव बैंक से उड़ा दिए 1.50 करोड़ रूपये-धनबाद

NEWSWTODAYJ  धनबाद – साइबर अपराधियों ने अब तक का सबसे बड़ा साइबर अपराध कर सबको चौंका दिया हैl साइबर अपराधियों ने एक्सिस बैंक के माध्यम से 1.50 करोड़ रुपये अपने खाते में ट्रांसफर करवा लिया है। वह भी बगैर रिक्वेस्ट फॉरवर्ड के। आपको बता दें कि यह राशि सहकारिता बैंक के खाते से ट्रांसफर हुई है। इसको लेकर अब धनबाद साइबर थाना में प्राथमिकी दर्ज होने के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

बताया जा रहा है कि एक्सिस बैंक धनबाद से जो डेढ़ करोड़ रुपये उड़ाए गए हैं वह पहली बार बैंक के खाते से ही डेढ़ करोड़ रुपये उड़ा लिए गए हैं। वह भी RTGS के माध्यम से। एक्सिस बैंक धनबाद से निकाले गए 1.5 करोड़ रुपये के मामले में पुलिस ने साइबर थाना में प्राथमिकी दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। हालांकि प्रारंभिक जांच में यह पुलिस भी नहीं समझ पा रही है कि बैंक के आरटीजीएस खाते में कैसे सेंधमारी कर इतनी बड़ी रकम को अलग-अलग राज्यों के 19 खातों में भेज दिया गया। धनबाद के साइबर डीएसपी सुमित सौरभ लाकड़ा मामले की जांच कर रहे हैं। उन्होंने एक्सिस बैंक के आंतरिक स्थिति की भी जांच करने की बात कही है।

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

ये भी पढ़े…

3 महिला सहित 9 पुरुष, कोरोना पर विजयी पाकर घर लौटे

वहीं दूसरी ओर कॉपरेटिव बैंक धनबाद के प्रबंध निदेशक अफ्रेम जॉर्ज कुजूर ने बताया कि यह पूरी तरह से एक्सिस बैंक की लापरवाही के कारण घटना घटी है। उन्होंने कहा 29 और 30 मई को बैंक की ओर से आरटीजीएस करने का कोई भी रिक्वेस्ट एक्सिस बैंक को फॉरवर्ड नहीं किया गया है। इसके बावजूद भी इस तरह की घटना स्तब्ध करने वाली है। उन्होंने कॉपरेटिव बैंक ग्राहकों से परेशान नहीं होने अपील की है। उन्होंने कहा कि ग्राहकों का पैसा सुरक्षित है। उन्हें जब भी आवश्यकता होगी बैंक भुगतान करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here