• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

ईरान हमले का असर ,100 से ज्यादा अमेरिकी सैनिकों हुए बीमार

1 min read

ईरान हमले का असर ,100 से ज्यादा अमेरिकी सैनिकों हुए बीमार

NEWS TODAY- कुद्स फोर्स के प्रमुख मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत के बाद ईरान ने बदले की कार्रवाई करते हुए इराक में अमेरिकी एयरबेस पर हमला किया था l ईरान ने 8 जनवरी को इराक में मौजूद अमेरिकी वायु सेना के अड्डों पर हमला किया था. उस समय ईरान ने दावा किया था कि हमले में 80 अमेरिकी सैनिक मारे गए हैं. हालांकि उस समय अमेरिका ने दावा किया था कि हमले से ठीक पहले पेंटागन वॉर्निंग सिस्टम के कारण सभी सैनिक बंकरों में चले गए थे, जिसके कारण सैनिकों को कोई नुकसान नहीं हुआ था. इराक  में मौजूद अमेरिकी वायुसेना के अड्डों पर ईरान  की ओर से किए गए मिसाइल हमले का असर अभी तक अमेरिकी सैनिकों पर दिखाई दे रहा है.

हमले के महीने भर बाद एक बार फिर अमेरिका की ओर से सफाई देते हुए कहा गया है कि ईरान के मिसाइल अटैक में 100 से ज्यादा अमेरिकी सैनिकों को नुकसान हुआ है. पेंटागन की ओर से पिछली बार जारी किए गए आंकड़ों को देखने के बाद घायल सैनिकों की संख्या में 50 प्रतिशत का इजाफा हुआ है l

संयुक्त चीफ ऑफ स्टाफ के अध्यक्ष, आर्मी जनरल मार्क मिले ने पिछले महीने कहा था कि अब तक 109 अमेरिकी सैनिकों को मस्तिष्क की चोट लगी थी, जिसमें से 79 सैनिक फिर ड्यूटी पर लौट आए हैं, मस्तिष्क की दर्दनाक चोटों से पीड़ित अमेरिकी सैनिकों का इलाज किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि ज्यादातर सैनिकों को सिरदर्द, चक्कर आना, आंखों की रोशनी कमजोर होना और संवेदनशील होना शामिल है।

ये भी पढ़े- विकास भारती से मिली पहचान-नए-नए तरीकों से हो रहें परिपूर्ण किसान

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की धमकी के बावजूद 8 जनवरी को सुबह साढ़े 5 बजे ईरान ने एक बार फिर इराक स्थित अमेरिकी एयरबेस को निशाना बनाते हुए दो दर्जन से अधिक मिसाइलें दागी थीं. अमेरिकी एयरबेस को निशाना बनाए जाने की पुष्टि खुद पेंटागन ने की है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें