• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

इस मकर सक्रांति मैं कोयलांचल की धरती पर भगवान सूर्य की विशेष कृपा बरसेगी

1 min read

(धनबाद)

इस मकर सक्रांति मैं कोयलांचल की धरती पर भगवान सूर्य की विशेष कृपा बरसेगी……!

नीरज सिन्हा.न्यूज़ टुडे झारखंड डेस्क !

धनबाद:- इस वर्ष आज मनाई जा रही है मकर सक्रांति कोयलांचल वासियों को भगवान सूर्य की विशेष कृपा बनी रहेगी तिल गुड़ मिष्ठान कंबल और गर्म कपड़े आदि गरीबों को दान करने से मिलेगी पुण्य प्रताप…….!

उक्त बातें जाने-माने गोल्ड मेडलिस्ट तांत्रिक चंदन शास्त्री ने कहा 14 जनवरी की रात 2:10 पर सूर्य अपने पुत्र शनि का घर मकर राशि में प्रवेश कर गए इसलिए मकर सक्रांति आज मनाई जा रही है…….!

मकर सक्रांति में क्या बोले जाने माने गोल्ड मेडलिस्ट तांत्रिक चंदन शास्त्री !

कोयलांचल शनि ग्रह से प्रभावित है इसलिए शनि के घर में सूर्य को प्रवेश हुआ कोयलांचल में रह रहे लोगों को यश प्रसिद्धि धन दौलत का लाभ मिलेगा…..!

वहीं चंदन शास्त्री ने कहा सामाजिक कार्यकर्ताओं और नेताओं पर सूर्य की विशेष कृपा बनी रहेगी क्योंकि राजनीतिक सनी से प्रभावित हैं इसलिए सनी की विशेष कृपा बनी रहेगी…….!

जानिए क्यों मनाई जाती है मकर सक्रांति यह भी पढ़ें…..!

सूर्य के एक राशि से दूसरी राशि में जाने को ही संक्रांति कहते हैं. एक संक्रांति से दूसरी संक्रांति के बीच का समय ही सौर मास है. वैसे तो सूर्य संक्रांति 12 हैं, लेकिन इनमें से चार संक्रांति महत्वपूर्ण हैं जिनमें मेष, कर्क, तुला, मकर संक्रांति हैं. मकर संक्रांति के शुभ मुहूर्त में स्नानए दान और पुण्य के शुभ समय का विशेष महत्व है…….!

भारतीयों का प्रमुख पर्व मकर संक्रांति अलग-अलग राज्यों, शहरों और गांवों में वहां की परंपराओं के अनुसार मनाया जाता है. इसी दिन से अलग-अलग राज्यों में गंगा नदी के किनारे माघ मेला या गंगा स्नान का आयोजन किया जाता है. कुंभ के पहले स्नान की शुरुआत भी इसी दिन से होती है……!

मकर संक्रांति के पावन पर्व पर गुड़ और तिल लगाकर नर्मदा में स्नान करना लाभदायी होता है. इसके बाद दान संक्रांति में गुड़, तेल, कंबल, फल, छाता आदि दान करने से लाभ मिलता है और पुण्यफल की प्राप्ति होती है…….!



NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें