इन्दिरा गांधी आवासीय विद्यालय में युवा विज्ञान कार्यशाला संपन्न, इसरो से लौटी छात्राओं को मिला सम्मान। पढ़ें पूरी खबर…….

0
http://newstodayjharkhand.com/wp-content/uploads/2018/05/PicsArt_05-23-01.04.13.jpgItalian Trulli

रांची।

इन्दिरा गांधी आवासीय विद्यालय में युवा विज्ञान कार्यशाला संपन्न, इसरो से लौटी छात्राओं को मिला सम्मान। पढ़ें पूरी खबर…….

रांची। इन्दिरा गांधी आवासीय विद्यालय में प्रमंडल स्तरीय युवा विज्ञान कार्यशाला का हुआ समापन। इसरो से लौटी छात्राओं को मिला सम्मान। कार्यक्रम में धृति वर्णवाल ने कहा कि आइये अन्तरिक्ष विज्ञान को मन का विषय बनाएं— सपने अपने लगने लगेंगे। विज्ञान कठिन नहीं यह भी मन के रमने का विषय है। घृति ने कहा कि इसरो के चेयरमैन डाॅ. के सीवन वैज्ञानिक डाॅ. के कस्तूरीरंगन, डाॅ. के राधाकृष्णन आदि ने भी अंतरिक्ष विज्ञान के बारे में लेक्चर के माध्यम से महत्वपूर्ण जानकारी दी। इसके अलावा टेलीस्कोप निर्माण, टेलीस्कोप के माध्यम चन्द्रमा का अध्ययन, चन्द्रयान मिशन सहित अंतरिक्ष से जुड़ी तमाम जानकारी मिली। उन्होंने बताया कि इसरो भ्रमण से अर्जित ज्ञान को कस्तूरबा के छात्राओं के बीच बांटने से बेहद खुशी महसूस हो रही है। उसने कहा कि श्रीहरिकोटा में हमने लाईव राॅकेट लाॅचिंग को देखा। साथ ही इसी महीने लांच होने वाले चन्द्रयान को हमने नजदीक से देखते हुए उसके कार्यप्रणाली के बारे में जाना। मौका था इन्दिरा गांधी आवासीय विद्यालय में प्रमंडल स्तरीय दो दिवसीय युवा विज्ञानी कार्यशाला के समापन का। जहां इसरो के 15 दिवसीय भ्रमण कार्यक्रम से लौटीं छात्राएं अपने अनुभव साझा कर रहीं थीं।
सपने साकार होने और कल्पनाओं को पंख देने जैसा
किसान की बेटी मोंटू पानी आज खुश थी। इसरो भ्रमण का अवसर मिलना उसके सपने के साकार होने और अपनी कल्पनाओं को पंख देने जैसा उसकी आखों में छाए आत्मविश्वास को देख प्रतीत हो रहा था। उसने कहा..मैंने इसरो जाना कभी सपने में इस सपने के साकार होने की कल्पना नहीं की थी। मेरे विज्ञान के प्रति रूचि व लगन ने इस सपने को साकार किया है। उसकी बातों को सुन सभी बच्चियां आत्मविश्वास से लबरेज नजर आईं। हो भी क्यों न उनसब ने एक किसान की बेटी के लगन और उसके सपने को साकार होते जो देखा था।
दृढ़ इच्छाशक्ति से लक्ष्य हासिल किया जा सकता है
बोकारो की रिंकी कुमारी ने छात्राओं से कहा कि दृढ़ इच्छाशक्ति और लगन से कोई भी मंजिल हासिल की जा सकती है। इसरो का परिभ्रमण ने विज्ञान के प्रति हमारे सोचने का नजरिया ही बदल दिया है।
अब लड़कियों के सपने को पंख मिलने लगे हैं
इस मौके पर कार्यक्रम में मौजूद वरीय सरकारी अधिवक्ता श्रीमती ऋचा संचिता ने छात्राओं को विज्ञान के प्रति रूझान के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि विज्ञान के प्रति समर्पण से कोई भी लक्ष्य हासिल किया जा सकता है। अब लड़कियों के सपनों को पंख मिलने लगे हैं। आप सभी लक्ष्य निर्धारित कर दृढ़ इच्छाशक्ति व लगन से कामयाबी हासिल करें।
इस अवसर पर जिला शिक्षा पदाधिकारी श्रीमती लुदी कुमारी ने धृति वर्णवाल, मोंटू पानी व रिंकु कुमारी को मोमेन्टो व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। मौके पर शिक्षक व बड़ी संख्या में छात्राएं मौजूद थे।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Italian Trulli

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here