• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

आज फिर धनबाद में मरे मुर्दे की कीमत लगा दी लोगो ने कई घंटे चला प्रदर्सन और तोड़ फोड़ फिर हुआ मामला रफा दफा

1 min read

समाचार एवं विज्ञापन के लिए संपर्क करे,,,,,,9386192053,,,,,,,,,

आज फिर धनबाद में मरे मुर्दे की कीमत लगा दी लोगो ने कई घंटे चला प्रदर्सन और तोड़ फोड़ फिर हुआ मामला रफा दफा,,,

(धनबाद)

धनबाद: धनबाद के निजी अस्पतालों में चिकित्सकों की लापरवाही या गलत ऑपरेशन की वजह से असमय काल के गाल में समाने वाले मरीजों के साथ इस तरह का व्यवहार इन दिनों देखने को मिल रहा है….

मानवता कहीं ना कहीं पीछे छूट ती जा रही है।

क्या है पूरा मामला,,,,,,,,

ताजा घटनाक्रम धनबाद के मेमको मोड़ स्थित कस्तूरबा सेवा सदन की है जहां बरवाअड्डा थाना क्षेत्र के इस निजी अस्पताल में कुर्मी डिह की एक महिला की मौत चिकित्सकों की लापरवाही की वजह से हो गई।

घटना के बाद परिजनों ने आसपास के लोगों को इकट्ठा करके अस्पताल में जमकर तोड़फोड़ किया। अस्पताल परिसर में लोगों ने लगभग 12 घंटे तक धरना भी दिया।दोषी चिकित्सक के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए जमकर नारेबाजी की।

इतना ही नहीं झोलाछाप चिकित्सकों से इलाज कराने का मामला उठाकर खूब हो हंगामा भी किया । घटना के बाद अस्पताल परिसर में तोड़फोड़ करने वालों पर अस्पताल के मालिक और पीएमसीएच में कार्यरत चिकित्सक डॉ यू एन वर्मा ने तोड़फोड़ करने वालों पर मामला दर्ज कराने की बात कही थी,,,,

जबकि दूसरी ओर मरीज के परिजन चिकित्सकों पर एफ आई आर दर्ज करके उन्हें फांसी देने तक की मांग कर रहे थे।

लेकिन गजब है माया धन की , महज एक लाख में मृतका के शव का सौदा कर दिया गया। सौदा पक्का होते हैं चिकित्सक का एक प्रतिनिधि आकर रुपये पहुंचा गया।

फिर क्या था परिजन शव को उठाकर अपने घर के लिए रवाना हो गयें। अस्पताल प्रबंधन भी फिर से दूसरी गलती करने के लिए अस्पताल के टूटे फूटे संयंत्रों को फिर से मरम्मत कराने में जुट गया है ।

पूरे घटनाक्रम के दौरान रात भर किसी भी अनहोनी की घटना को रोकने के लिए तैनात पुलिस इस बात का इंतजार करती रही कि कोई उसे आवेदन लिख कर देगा ताकि वह दोषियों पर कार्रवाई के लिए आगे बढ़ सके लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ 

इन तमाम बातों से एक बात तो स्पष्ट है कि धनबाद में निजी अस्पतालों में इलाज करने वाला शख्स असली डॉक्टर हो या कोई झोलाछाप फर्जी डॉक्टर इलाज के दौरान अगर लापरवाही से मौत हो गयी तो,,,,

मरीज के परिजनों को पैसे के बल पर FIR कराने से रोक सकता है,,,,

और बड़े आसानी से लाश का सौदा कर सकता है। ऐसा पिछले सप्ताह उक्त अस्पताल के बगल में मौजूद सर्वमंगला नर्सिंग होम में देखने को मिला उसके बाद सप्ताह भर हुई लगातार हंगामे के बाद कई अस्पतालों में ये बातें देखने सुनने को मिली।

एक बात तो स्पष्ट है कि ऐसा कर हमारी मानवता कहीं न कहीं पीछे छूटती जा रही है ।



न्यूज टुडे झारखंड बिहार।

रखे आप को आप के आस पास के खबरो से आप को आगे.newstodayjharkhand.com watsaap.9386192053

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें