• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

अमृतसर में हुए रेल हादशा ने एक भयावह तस्वीर छोड़ गया है दिल को झकझोर देने वाली कहानी सामने आई है प्रीति की

1 min read

सामाचार एवं विज्ञापन के लिए संपर्क करे,,,,,,9386192053,,,,,,,,

धनबाद !

अमृतसर में हुए रेल हादशा ने एक भयावह तस्वीर छोड़ गया है दिल को झकझोर देने वाली कहानी सामने आई है प्रीति की…….. !

रिपोर्ट छोटे खान !

पंजाब के अमृतसर में हुआ रेल हादसा अपने पीछे एक दर्दनाक और भयावह तस्वीर छोड़ गया है। कई परिवार उजड़ गए हैं तो कईयों की जिंदगी तबाह हो गई है। ऐसी ही एक दर्दनाक और दिल को झकझोर देने वाली कहानी सामने आई है प्रीति की। इस हादसे में प्रीति का सबकुछ कुछ लूट गया।

यूपी के सुल्तानपुर की रहने वाली प्रीति ऐसी अभागीन है, जिसका सबकुछ लुट गया और 24 घंटे बाद भी उसको कुछ इसलिए नहीं बताया गया है कि कहीं वह कुछ कर न बैठे। उसका पति दिनेश, बेटा अभिषेक, मां शिवपतिनम समेत छह रिश्तेदार मौत का ग्रास बन गए हैं। खुद अस्पताल में दाखिल है, बाकी बहन के दो बच्चों का कुछ पता नहीं है।

शनिवार को गुरूनानक अस्पताल में सर्जिकल वार्ड की दूसरी मंजिल पर दाखिल प्रीति की देखभाल करने के लिए उसके जान पहचान वाले ही खड़े हुए थे। परिवार का कोई सदस्य नहीं था। उनके परिवार के निकटवर्ती धरमिंदर कहने लगा कि भाजी इसको कुछ पता नहीं है, अभी बताना नहीं यह भी मर जाएगी। प्रीति गुमसुम आंखों से सिर्फ छत को घूर रही थी, गोद में उसका छोटा बेटा आरूष ही बचा है।

वह मां के साथ बिस्तर पर खेल रहा था, उस मासूम को क्या पता कि उसके सिर से पिता का साया व भाई अभिषेक का प्यार सदा के लिए खत्म हो गया है। लोग बताते हैं कि प्रीति की बहन राधा सुल्तानपुर से आई हुई थी, उसके बेटे विशाल के मुंडन थे। सब लोगों ने तय किया था कि वह एक साथ दशहरा के बाद वैष्णों देवी जाएंगे।

बहन राधा के पति बुध राज भी इस दर्दनाक हादसे का शिकार बन गए। रात तक उनके परिवार के बाकी सदस्यों का कुछ पता नहीं था, इतना ही पता था कि प्रीति व उसका बेटा आरूष के अलावा बहन राधा और उसकी बेटी सरोजनी ही बची है, बाकी किसी का कुछ पता नहीं है।

अमृतसर में हुआ दर्दनाक हादसा लोगों को कभी न भूलने वाला दर्द दे गया। भीषण हादसे के बाद पूरा अमृतसर रो पड़ा। अमृतसर के आंखों में आंसू उस वक्त भी आ गए, जब एक साथ 20 लोगों की चिताएं जली। जौड़ा फाटक के पास शुक्रवार शाम को रेल हादसे में मारे गए लोगों का अंतिम संस्कार कर दिया गया। दुर्ग्याणा श्मशान घाट में 20 लोगों का अंतिम संस्कार किया गया।

20 चिताएं एक साथ जली तो हर आंख नम हो गई। वहीं बिल्लेवाला चौक शमशान घाट में तो जगह ही नहीं बची। तहसीलदार करणपाल सिंह और गुरविंदर सिंह ने कहा कि इस इलाके के काफी लोग मारे गए हैं। पांच चिताए एक साथ जलाई गई हैं और आगे स्थान नहीं है इसलिए बाकी शवों का दुर्ग्याणा मंदिर के श्मशान घाट में ही अंतिम संस्कार किया गया है।

रेल हादसे में घायल लोगों के निशुल्क इलाज का एलान
अमृतसर में हुए रेल हादसे में घायल हुए लोगों के लिए कई सामाजिक संस्थाएं और अस्पताल ने मदद का हाथ बढ़ाया है। इसी कड़ी में जालंधर के ऑर्थोनोवा अस्पताल ने इस हादसे में घायल लोगों का निशुल्क इलाज कराने का एलान किया है। इसके लिए अस्पताल की तरफ से कई एम्बुलेंस को भी अमृतसर में हादसे वाली जगह पर रवाना कर दिया गया है, ताकि गंभीर रूप से घायल लोगों को समय रहते अस्पताल में इलाज के लिए लाया जा सके। अस्पताल के डॉ. हरप्रीत सिंह कहना है कि घायलों के इलाज के लिए अस्पताल के डाक्टरों व स्टाफ को 24 घंटे सतर्क रहने व ड्यूटी पर रहने के आदेश दिए है।

रेल हादसे के विरोध में धरने पर बैठे भाजपाई
रेल हादसे पर राजनीति भी शुरू हो गई है। कोई केंद्र तो कोई सूबे की सरकार को कटघरे में खड़ा करने में लगा हुआ है। भाजपा ने श्वेत मलिक के नेतृत्व में शनिवार को सड़क पर बैठकर प्रदर्शन किया और कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की गिरफ्तारी की मांग की। इससे पहले भाजपा नेताओं ने अमृतसर बंद की कॉल की और भाजपा की मीटिंग भी हुई लेकिन बंद को सफल होता न देखकर भाजपा नेता धरने पर बैठ गए।

पूर्व मंत्री अनिल जोशी ने कहा कि इस हादसे के जिम्मेदार नवजोत सिद्धू और नवजोत कौर सिद्धू हैं, वह चीफ गेस्ट थे, उनको गिरफ्तार करना चाहिए। वहीं आम आदमी पार्टी के नेता सुखपाल खैरा ने केंद्रीय रेलमंत्री पीयूष गोयल से इस्तीफे की मांग की है। उन्होंने कहा कि रेल व्यवस्था पूरी तरह फेल साबित हुई है। जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई होनी चाहिए। वहीं उन्होंने नवजोत कौर सिद्धू के हक में बोलते हुए कहा कि उनका कोई कसूर नहीं है। खैरा रविवार को अमृतसर में हादसे का जायजा लेने जा रहे हैं।



न्यूज टुडे झारखंड बिहार।

रखे आप को आप के आस पास के खबरो से आप को आगे.newstodayjharkhand.com 

Leave a Reply

Your email address will not be published.